Panchvarshiya Yojana Kya Hai in Hindi? | पंचवर्षीय योजना क्या है?

नमस्कार दोस्तों! अगर आप भी भारत की पंचवर्षीय योजनाओ (Panchvarshiya Yojana Kya Hai in Hindi) की जानकारी पाना चाहते है तो ये पोस्ट सिर्फ आपके लिए है। इस पोस्ट में आपको भारत की सभी Panchvarshiya Yojana जो प्रति पांच वर्ष में नये तरीके से शुरू की जाती है। आज इस आर्टिकल में आपको अभी तक लॉन्च की गई Five Year Plans जो सामाजिक कल्याण के लिए शुरू की जाती है, इनके जानकारी आपको जानने को मिलेगी।

पंचवर्षीय योजना के बारे में
 [hide]

पंचवर्षीय योजना क्या है?

भारत सरकार के द्वारा हर पाँच वर्षो के लिए पंचवर्षीय योजना (जो केंद्रीकृत और एकीकृत राष्ट्रीय आर्थिक कार्यक्रम हैं) देश के नागरिको के लिए सामजिक और आर्थिक विकास के लिए इस प्रकार की Five Year Plans को शुरू किया जाता है।

Panchvarshiya Yojana

अभी तक देश के कुल १२ पंचवर्षीय योजनाओ को शुरू किया गया है। यह सभी योजना में अपना लक्ष्य को प्राप्त करके सफल रही है। हर पंचवर्षीय स्कीम के लक्ष्य उद्देश्य आदि सब अलग अलग होती है।
आगे की पोस्ट में आपको सभी Five Year Plans के बारे में विस्तार से जान पाओगे। कृपया इस पोस्ट को पूरा पड़ना जारी रखे।

PM Modi Health ID Card 2021 क्या है

Basic Highlights of Panchvarshiya Yojana In Hindi

नामपंचवर्षीय योजना
समय काल५ वर्ष
अब तक कुल योजनाबारह (12)
उद्देश्यसामाज कल्याण
Launch Byकेंद्र सरकार
WebsiteClick Here

Bharat Ki Panchvarshiya Yojana Ki List

जैसे की अब आप जान चुके होंगे कुल १२ पंचवर्षीय योजनाओ को शुरू किया गया है। अब हम आपको इन सभी पंचवर्षीय को एक एक करके विस्तार से जानेंगे। जिसमे- योजना के लक्ष्य दर, उद्देश्य, मॉडल, समय काल जैसे जानकारी को जानेंगे।

निचे अब तक शुरू की गई सभी योजना की लिस्ट निचे उपलब्ध कराई गई है।

  1. पहली योजना (1951-1956)
  2. दूसरी योजना (1956-1961)
  3. तीसरी योजना (1961-1966)
  4. चौथी योजना (1969-1974)
  5. पांचवी योजना (1974-1978)
  6. छठी योजना (1980-1985)
  7. सातवीं योजना (1985-1990)
  8. आठवीं योजना (1992-1997)
  9. नौवीं योजना (1997-2002)
  10. दसवीं योजना (2002-2007)
  11. ग्यारहवीं योजना (2007-2012)
  12. 12वीं योजना (2012-2017)

भारत की पहली पंचवर्षीय योजना

पहली पंचवर्षीय योजना को देश के प्रथम प्रधानमंत्री श्री जवाहरलाल नेहरू जी के द्वारा वर्ष 1951 शुरू क्या गया,जिसका कार्यकाल से वर्ष 1956 तक रहा । इस योजना को योजना आयोग के द्वारा विकसित किया गया था। प्रथम पंचवर्षीय योजना में कृषि क्षेत्र में जोरदिया गया। क्योंकि इस समय खाद्यान्न एक गंभीर समस्या थी।

इस योजना के दौरान पाँच इस्पात संयंत्र की नीव रखी गई थी । योजना के दौरान बांधों और सिंचाई में निवेश किया गया था। यह योजना हैराल्ड़-डोमर मॉडल पर आधारित थी । इस योजना का कुल बजट 2068 अरब था ।

नामप्रथम पंचवर्षीय योजना
समय1951-1956 तक।
मॉडलहैराल्ड़-डोमर मॉडल
बजट2068 Cr.
प्राथमिक क्षेत्रकृषि बिजली, सिचाई
लक्ष्य दर2.1
विकास दर3.6

पहली पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • कृषि क्षेत्र।
  • मुद्रास्फीति।
  • खाद्यान्न क्षेत्र।
  • सर्वांगीण विकास।
  • महंगाई पर कंट्रोल

किसान मित्र योजना हरियाणा

भारत की द्वितीय पंचवर्षीय योजना

दूसरी पंचवर्षीय में मुख्य रूप से उद्योग क्षेत्र ( विशेष रूप से भारी उद्योग) पर ध्यान केंद्र किया गया था। जिसका कार्यकाल 1956 -1961 तक रहा। 2ed Five Year Plan में राष्ट्रीय आय में 25% की बढ़ोतरी का लक्ष्य रखा गया।
यह योजना महालनोबिस मॉडल पर आधारित थी। इसकी ‘लक्ष्य वृद्धि दर 4.5% और वास्तविक वृद्धि दर 4.27% तह रही। इसे भौतिकवादी योजना के नाम से भी जाना जाता है।

नामद्वितीय पंचवर्षीय योजना
समय1956-1961 तक।
मॉडलमहालनोबिस मॉडल
प्राथमिक क्षेत्रपूर्ण उद्योग
लक्ष्य दर4.5
विकास दर4.2

द्वितीय पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • व्यावसायिक गतिविधि
  • घरेलू उत्पादन को प्रोत्साहन
  • इस्पात कारखानों का निर्माण
  • कुल बजट राशि 4800 करोड़

भारत की तृतीय पंचवर्षीय योजना

तीसरी पंचवर्षीय योजना में कृषि और गेहूं के उत्पादन में सुधार इसकी मुख्य प्राथमिकता रही, जिसका कार्यकाल 1961-1966 रहा। इसकी विकास दर लक्ष्य विकास दर 5.6 % और हासिल वृद्धि दर 2.84 % तक रही। यह जॉन सैण्डी तथा सुखमय चक्रवर्ती मॉडल पर आधारित थी।

नामतृतीय पंचवर्षीय योजना
समय1961-1966 तक।
मॉडलमिर्डन मॉडल
प्राथमिक क्षेत्रखाद्य, उद्योग
लक्ष्य दर5.6
विकास दर2.8

तृतीय पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • विदेशो में निर्यात
  • नए उद्योग का विस्तार
  • कृषि और उद्योग जगत।
  • अर्थव्यवस्था को आत्मनिर्भर बनाना

भारत की चौथी पंचवर्षीय योजना

पंचवर्षीय योजना में मुख्य रूप से कृषि पर ध्यान केंद्रित किया था। इस योजना को हरित क्रांति के नाम से भी जाना जाता है जिसके जनक सी सुब्रमण्यम को माना है। इस योजना का कार्यकाल 1969-1974 तक रहा। ४th Five Year Plan के समय कृषि क्षेत्रो में काफी ज्यादा सुधार हुआ है।

नामचौथी पंचवर्षीय योजना
समय1969-1974 तक।
मॉडलअशोक रूद्र व A.S मान्ने मॉडल
प्राथमिक क्षेत्रकृषि
लक्ष्य दर5.7
विकास दर3.2

चौथी पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • आर्थिक विकास
  • आत्मनिर्भरता

भारत की पांचवी पंचवर्षीय योजना

पांचवी पंचवर्षीय योजना में कृषि उत्पादन और आत्मनिर्भरता पर अधिक ध्यान दिया गया था। इस योजना का कार्यकाल 1974-1978 तक रहा, यह Model-डीपी घर मॉडल पर आधारित था। इसके मुख्य रूप से प्राथमिक क्षेत्र गरीबी उन्मूलन, आर्थिक आत्मनिर्भरता थे, जिसकी लक्ष्य दर 4.5 % और विकास दर ५ % थी।

नामपांचवी पंचवर्षीय योजना
समय1974-1978 तक।
मॉडलModel-डीपी घर मॉडल
प्राथमिक क्षेत्रगरीबी उन्मूलन, आर्थिक आत्मनिर्भरता
लक्ष्य दर4.5
विकास दर5

पांचवी पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • उद्देश-गरीबी उन्मूलन
  • वास्तविक विकास: 4.8%
  • तनाव रोजगार, और न्याय
  • कृषि उत्पादन और आत्मनिर्भरता

भारत की छठी पंचवर्षीय योजना

यह योजना का कार्यकाल १९८०-१९८५ तक रहा, जिसे आर्थिक उदारीकरण पर अधिक जोर दिया था। इस योजना का मोडल दो बार तैयार किया गया था। इस ५ year plan में लक्ष्य वृद्धि दर 5.2% और वास्तविक वृद्धि दर 5.4% रही। योजना का मुख्य उद्देश्य गरीब ख़त्म करना और रोजगार पर अधिक जोर दिया गया था।

नामछठी पंचवर्षीय योजना
समय1980-1985 तक।
प्राथमिक क्षेत्रकृषि, उद्योग
लक्ष्य दर5.2
विकास दर5.5

छठी पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • आधुनिकीकरण
  • अर्थव्यवस्था का विस्तार
  • परिवार नियोजन भी विस्तार

भारत की 7वीं पंचवर्षीय योजना

सातवीं पंचवर्षीय योजना के अंतर्गत देश में उत्पादन को बढ़ाना और रोजगार के वृद्धि करने पर बल दिया गया था। इसका कार्यकाल 1985-1990 तक रहा। 7th Five Year Plan के समय इंदिरा आवास योजना को शुरू किया गया था। इसका लक्ष्य सामाजिक न्याय उत्पीड़न के कमजोर का हटाया आधुनिक प्रौद्योगिकी था।

नामसातवीं पंचवर्षीय योजना
समय1985-1990 तक।
प्राथमिक क्षेत्रऊर्जा, खाद्य
लक्ष्य दर5
विकास दर6

सातवीं पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • ऊर्जा क्षेत्र।
  • रोजगार के साधन।
  • गरीबी को कम करना।
  • आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था
  • समाज सवेाओं में उन्नति।

भारत की 8वीं पंचवर्षीय योजना

1989-91 भारत में आर्थिक अस्थिरता के कारण इसे लागु नहीं किया गया था। इस योजना में सर्वोच्च प्राथमिकता ‘मानव संसाधन का विकास’ रोजगार अथवा शिक्षा व जनस्वास्थ्य पर अधिक दाल दिया गया था। इसके मध्य से भारतीय शिक्षा प्रणाली के बेहतर बनाना है।

नामआठवीं पंचवर्षीय योजना
समय1992-1997 तक।
मॉडलमानव स्त्रोत, शिक्षा
प्राथमिक क्षेत्रकृषि बिजली, सिचाई
लक्ष्य दर5.6
विकास दर6.6

आठवीं पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • जनसंख्या वृद्धि,
  • गरीबी में कमी,
  • बुनियादी ढांचे,
  • संस्थागत निर्माण,
  • मानव संसाधन विकास
  • रोजगार सृजन को नियंत्रित करने,
  • उदारीकरण, निजीकरण और वैश्वीकरण की शुरुआत।

भारत की 9वीं पंचवर्षीय योजना

इस योजना में माध्यम से तेजी से औद्योगीकरण, मानव विकास, पूर्ण पैमाने पर रोजगार, गरीबी में कमी और घरेलू संसाधनों पर आत्मनिर्भरता को प्राप्त करना इस योजना का मुख्य उद्देश्य था। नौवीं पंचवर्षीय योजना 1997-2002 तक चली। इसके अंतर्गत ‘स्वर्ण जयंती शहरी रोजगार योजना को शुरू किया गया।

नामनौवीं पंचवर्षीय योजना
समय1997-2002 तक।
प्राथमिक क्षेत्रसामाजिक न्याय
लक्ष्य दर6.5
विकास दर5.4

नौवीं पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • ग्रामीण विकास
  • प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल
  • उर्जा बढ़ती जनसंख्या वृद्धि
  • घरेलू संसाधनों पर आत्मनिर्भरता

भारत की 10वीं पंचवर्षीय योजना

दसवीं पंचवर्षीय योजना के अंतर्गत गरीबी का अनुपात काम करना, श्रम शक्ति के लिए उच्च गुणवत्ता वाले रोजगार इस योजना का मुख्य उद्देश्य रहा है। इस योजना में देश में तेजी से विकास हुआ और रोजगार के साधन प्राप्त हुए थे। यह योजना अत्यधिक सफल योजना में से एक रही।

नामदसवीं पंचवर्षीय योजना
समय2002-2007 तक।
प्राथमिक क्षेत्ररोजगार, ऊर्जा
लक्ष्य दर8.1
विकास दर7.6

दसवीं पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • श्रम शक्ति
  • अविकसित क्षेत्रो में रोजगार।
  • गरीबी के अनुपात में कमी लाना।

भारत की 11वीं पंचवर्षीय योजना

इस पंचवर्षीय योजना में श्य तीव्रतम एवं समावेशी विकास करना इस five year plan का मुख्य उद्देश्य था। योजना का कार्यकाल 2007 से लेकर 2012 तक रहा। इसका कुल बजट कुल बजट 71731।98 करोड रुपये तक रखा गया था। इसके अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र में बिजली पहुंचना है।

नामग्यारवी पंचवर्षीय योजना
समय2007-2012 तक।
बजट 71731.98 करोड
प्राथमिक क्षेत्रसमावेशी विकास
लक्ष्य दर8
विकास दर7.9

ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • बिजली पहुंचना
  • तीव्रतम एवं समावेशी विकास

भारत की 12वीं योजना पंचवर्षीय योजना

बाहरवीं पंचवर्षीय योजना का समय २०१२ से लेकर २०१७ तक रहा। इस योजना में आर्थिक क्षेत्रक में कृषि, उद्योग, ऊर्जा, परिवहन, संचार, ग्रामीण विकास एवं शहरी विकास में अधिक जोर दिया गया था। इस योजना के विकास दर १०% सालाना राखी गई थी। इसके कृषि क्षेत्र में औसत वृद्धि ४% करने का लक्ष्य रखा गया था।

नामबारहवीं पंचवर्षीय योजना
समय2012-2017 तक।
प्राथमिक क्षेत्रआर्थिक विकास 
लक्ष्य दर8
विकास दर8

बाहरवीं पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य

  • पेयजल और स्वच्छता
  • संसगत क्षमताओं का विकास
  • सार्वजानिक सेवा की डिलेवरी
  • सड़क परिवहन

पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य क्या होते है?

देश में इस योजना को विकास के लिए शुरू किया जाता है। इन five year plan के मुख्य उद्देश्य विकास दर ने वृद्धि करना, निवेश को बढ़ाना, गरीबी कम करना, रोजगार के साधन, आधुनिकीकरण आदि को ध्यान के रखा जाता है।

इन स्कीम को शुरू करने से पहले कुछ लक्ष्य को निर्धारित किया जाता है और फिर अलगे ५ साल इन उद्देश्यो पर कार्य किया जाता है। जिसके फलस्वरूप अभी तक शुरू की गई Panchvarshiya Yojana के माध्यम से देश की आर्थिक स्थिति में भी बहुत सुधार हुआ है।

हर पंचवर्षीय योजना के लक्ष्य और उद्देश्य अलग अलग होते है। जैसे पहली योजना में कृषि क्षेत्र में ध्यान दिया गया, और दूसरी योजना को औद्योगिक उत्पादों के घरेलू उत्पादन में ध्यान दिया गया था। ऊपर हमें इन सभी योजना के बारे में विस्तार से जानकरी प्राप्त करवाई है।

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना क्या है? 

पंचवर्षीय योजनाओं के लाभ (Benefit)

इन योजना के माध्यम से होने लाभ की जानकारी निचे दी गई है।

  • इसके माध्यम से देश में किसी क्षेत्र के विकास दर में वृद्धि होती है।
  • और सामाजिक कल्याण, रोजगार, आधुनिकीकरण और गरीबी कम होने में सहायता मिलती है।
  • जिससे देशवासियो की आर्थिक स्तिथि में सुधार के साथ उनके जीवन शैली बेहतर बनती है।
  • इन योजना के सफल होने से देश की स्तिथि बेहतर बनती है, जो की राष्ट्र निर्माण के लिए सहायक है।

FAQ: Panchvarshiya Yojana

पंचवर्षीय योजनाओं का लाभ किसे मिलता है?

इस योजना के सफल होने से देश के विभिन्न वर्गो को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप इसका लाभ मिलता है।

13वीं पंचवर्षीय योजना क्या है?

हम आपको बता देना चाहते है की १२वी योजना की बाद सरकार के द्वारा १३वी पंचवर्षीय योजना शुरू नहीं किया गया है।

पहली पंचवर्षीय योजना किस मॉडल पर आधारित है?

प्रथम योजना हैराल्ड़-डोमर मॉडल पर आधारित है।

१२वी पंचवर्षीय योजना का समय कब से कब तक रहा?

इसका समय 2012-2017 तक रहा।


मुझे आशा है की आप इस पोस्ट के माध्यम से भारत देश की पंचवर्षीय योजना क्या है? इसके बारे सभी आवश्यक जानकारी आपको उपलब्ध हो गई होगी। आप हमारी इस वेबसाइट पर राज्य केंद्र सरकार की सभी योजनाओ के बारे जानकारी के लिए इस साइट को विजिट करे।
और आपको Panchvarshiya Yojana से सम्बंधित किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए निचे दिए कमेंट बॉक्स में अपनी राय दे।

हेलो दोस्तों! में Mayur, [Pmmodischeme.com] का Author & Founder हूँ। में Computer Science (C.s) से ग्रेजुएट हूँ। मुझे इंडियन गवर्नमेंट के योजनाओ के बारे में जानकारी देना अच्छा लगता है। और में Blogging क्षेत्र में वर्ष 2018 से हूँ। इस ब्लॉग के माध्यम से आप सभी को सभी योजनाओ के बारे में जानकारी उपलब्ध कराना यही मेरा उद्देश्य है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *