प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना 2021 आवेदन फॉर्म : PM Matsya Sampada Yojana (PMMSY)

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना आवेदन | प्रधानमंत्री मत्स्य योजना | प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना PDF | मत्स्य पालन योजना उत्तर प्रदेश | pradhan mantri matsya sampada yojana in hindi

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना: आज हम आपको प्रधानमंत्री के मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान वर्ष २०१९ -२० में आयोजित सत्र के समय वित्तीय मंत्री के द्वारा इस योजना को शुरू करने का प्रस्ताव रखा। जिससे की देश के जलीय उत्पादों के केन्द्रीकरण करके हॉटस्पॉट में बदलना है।

फलस्वरूप मछुआरा समुदायों के लोगों की आय में वृद्धि की जा सके। और जलीय क्षेत्र अच्छे से फल फूल सके।

आज की इस पोस्ट में हम आपको Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana (PMMSY) से जुडी तमाम छोटी से लेकर बड़ी खबरे जो आपको जानना आवश्यक है सभी उपलब्ध करवाएंगे।

जिससे की अगर आप इस योजना की पात्रता रखते हो या आपके परिचित इसके माध्यम से लाभ ले सकते है। तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत ही उपयोगी सिद्ध होगी।
तो आईये बिना किसी देर के इस योजना की सम्पूर्ण जानकारी आपको उपलब्ध करवाते है।

PMEGP Scheme List

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना क्या है?

PMMSY Scheme जैसे की नाम से ही पता चल जाता है की यह योजना देश के फिशर, मछली किसान, मछली श्रमिक और मछली विक्रेता के लिए यह अति लाभकरी योजना होने वाली है।

इस योजना का Approval प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली मंत्री मंडल के द्वारा इस योजना को प्रस्तावित किया गया।

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana

जिसकी शुरुआत वर्ष २०१९-२० को वित्तीय बजट को पेश करते वक्त हुई। इसे राज्य / केंद्र शासित प्रदेशों में 5 साल तक इस योजना का सञ्चालन किया जाए।

जिससे की जलीय क्षेत्र के कार्य करने वाले लाभार्थी को इसका लाभ पहुंचाया जा सके। जिससे की उनकी आयु के दोगुनी वृद्धि हो पाए।
इसलिए इस योजना के लिए 20,050 करोड़ रूपए की राशी को आबंटित किया गया है।

  • इसके माध्यम से आवेदक को आत्मनिर्भर बनाना।
  • आर्थिक रूप से मजबूत करना।
  • स्व रोजगार के संसाधन उत्पन्न करना।
  • बेरोज़गारी की समस्या को कम करना।

नाबार्ड योजना

Highlights of PM Matsya Sampada Yojana(PMMSY)

योजना का नाममत्स्य संपदा योजना
लॉंचकेंद्र सरकार
Year2019-2020
लाभार्थीमछुवारे (Fisherman)
उद्देश्यआय को दोगुनी और जलीय निकाय में वृद्धि
Official Sitedof.gov.in/pmmsy

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लाभार्थी

इस योजना की शुरुआत वित्तीय मंत्री के द्वारा विशेषकर देश के जलीय निकाय से सम्बंधित सभी मछुआरे के लिए इस स्कीम की शुरुआत की गई है।

इसमें सभी प्रकार के मछुआरे सम्मिलित हो सकते है। जिसकी जानकरी निम्न प्रकार से है।

  • मत्स्य सहकारिता
  • मत्स्य पालन संघ
  • मत्स्य विकास निगम
  • उद्यमी और निजी फर्म
  • मछली पालन करने वाले किसान
  • केंद्र सरकार और उसकी इकाइयाँ
  • मछली श्रमिकों और मछली विक्रेताओं
  • राज्य मत्स्य पालन विकास बोर्ड (SFDB)
  • एससी / एसटी / महिला / अलग-अलग विकलांग व्यक्ति
  • मछली किसान उत्पादक संगठन / कंपनियाँ (FFPOs / Cs)
  • राज्य सरकारों / संघ शासित प्रदेशों और उनकी संस्थाओं सहित
  • मत्स्य पालन क्षेत्र में स्वयं सहायता समूह (SHGs) / संयुक्त देयता समूह (JLGs)

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना

PM Matsya Sampada Yojana के उद्देश्य

इस योजना के उद्देश्य निम्न प्रकार से है

  • इसके माध्यम से मछली समावेशी उद्योग को दोगुना करना।
  • सभी मछुवारो में लाभ मुहैया करवाना।
  • सभी मछली उत्पादकता में सुधार आएगा।
  • इसके माध्यम से मछुवारो की आय में दोगुनी वृद्धि होगी। और जलीय उद्योग में बढ़ोतरी होगी।
  • इस योजना के माध्यम से आने वाले गत ५ वर्ष की अंदर सभी को लाभ प्रदान करना है।
  • PMMSY के माध्यम से राष्ट्र में भोजन तैयार करने वाले हिस्से के विकास का विस्तार होगा।
  • यह जीडीपी, रोजगार और उद्यम का निर्माण में महत्वपूर्ण निर्णय है।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के मुख्य Features

इस योजन की मुख्य विशेषता निचे बिंदुवत तरीके से आपको दर्शाई गई है।

  1. बीमा कवरेज
  2. वित्तीय सहायता
  3. नये विभाग का निर्माण
  4. जलीय क्षेत्र को बढ़ावा
  5. मछली पालन को प्रोत्साहन
  6. मछुआरों तक ऋण की सुविधा

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana (PMMSY) के मुख्य घटक

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana स्कीम एक umbrella scheme है जिसके के निम्न प्रकार के दो घटक है। जैसे-

  • Central Sector Scheme
  • Centrally Sponsored Scheme

इस योजना में कुल 20,050 करोड़ रुपये की की राशी का निवेश किया है। जिसकी जानकरी निम्न प्रकार से है।

State Share of Rs 4880 cr
Central Share of Rs 9407 cr
Beneficiaries Share of Rs 5763 cr

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana ऑनलाइन एप्लीकेशन प्रक्रिया?

अभी तक सरकार के द्वारा इस योजना में कैसे पंजीयन दर्ज कराये अभी तक इसकी किसी भी प्रकार की जानकरी नहीं दी गई है। की इस योजना में कैसे अपना पंजीयन दर्ज कराये।

जैसे जो इसकी आधिकारिक पुस्टि होती है। वैसे है हम आपको प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना में रजिस्ट्रेशन परिक्रिया की जानकरी आपको उपलब्ध करवा देंगे।

एक परिवार एक नौकरी योजना

F&Q About PM Matsya Sampada Yojana(PMMSY)


PM Matsya Sampada Yojana(PMMSY) योजना क्या है ?

इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश के जलीय उत्पादों का प्रसार करना है। जिसके माध्यम से मछुआरों की आय को दुगुना किया जा सके।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की शुरुआत कब हुई?

इस योजना की शुरुआत वर्ष 2019 में वित्त बजट को पेश करते दौरान हुई थी।

PMMSY Scheme को लॉंच किसके द्वारा की गई?

इस योजना का शुभांरभ देश की वित्तीय मंत्री श्रीमति निर्मला सीतारमण के द्वारा हुआ।

क्या PM Matsya Sampada Yojana नीली क्रांति से सम्बंधित है?

हां बिल्कुल! यह योजना नीली क्रांति से सम्बंध रखती है।

इस योजना की अवधी कब तक रहेगी?

इस योजना का लक्ष्य वर्ष 2525 तक इसका संचालन किया जायेगा।

PMMSY योजना का Implementation कैसे किया जाएगा?

इसका Implementation राज्य सरकार और केंद्र सरकार दोनों के द्वारा क्रमशः 40% जबकि 60% के अनुसार किया जायेगा।


आशा है की अब आप PM Matsya Sampada Yojana(PMMSY) से जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकरी इस पोस्ट के माध्यम से मिल गई होगी। जिसके जरिये आप इस स्कीम से जुडी सभी महत्वपूर्ण बाते आप जान सके।

आपको इससे जुडी और अधिक जानकरी के लिए आप आधिकारिक वेबसाइट को follow करे।

इस प्रकार की सरकारी योजनाओ की जानकरी के लिए आप Pm Modi Scheme Website को फॉलो करे।

इस योजना से जुडी हेतु पीडीएफ डाउनलोड करे।

हेलो दोस्तों! में Mayur, [Pmmodischeme.com] का Author & Founder हूँ। में Computer Science (C.s) से ग्रेजुएट हूँ। मुझे इंडियन गवर्नमेंट के योजनाओ के बारे में जानकारी देना अच्छा लगता है। और में Blogging क्षेत्र में वर्ष 2018 से हूँ। इस ब्लॉग के माध्यम से आप सभी को सभी योजनाओ के बारे में जानकारी उपलब्ध कराना यही मेरा उद्देश्य है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *